Breaking News

21 दिसंबर को जिला मुख्यालय सोनी हत्याकाण्ड

शामली/कांधला गांव गढीश्याम में 11वी की छात्रा सोनी कश्यप की श्रद्धाजंलि सभा में जनप्रनिधियों ने पंहुचकर श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए परिवार को न्याय दिलाने का हरसम्भव भरोसा दिलाया। इस दौरान उन्होने हत्यारोपीयों पर रासुका व पोस्कों की धारा बढाये जाने व परिवार को प्रदेश सरकार से आर्थिक मदद की घोषणा किये जाने की मांग को लेकर जिलामुख्यालय 21 दिसंबर को पर धरना देने की घोषणा की।
थाना क्षेत्र के गांव श्याम गढी निवासी बीरा कश्यप की 11 वी पढने वानी बेटी सोनी कश्यप की 13 दिसंबर को गांव के एक युवक ने धारदार हथियार से निर्मम हत्या कर दी थी। मामले मे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन कश्यप समाज में मामले को लेकर आक्रोष थमने का नाम नही ले रहा है। रविवार को छात्रा सोनी कश्यप हत्या 8 दिन बीत जाने के बाद गांव में श्रद्धाजंलि सभा का आयोजन किया गया। जिसमे दर्जनों ग्राम पंचायतों के साथ आस पास जनपदों के हजारों की संख्या में लोगों ने भाग लिया। जिला पंचायत सदस्य मनीष चौहान ने अपने सम्बोधित मे कहा कि बेटी कश्यप समाज की नही प्रत्येक समाज की थी। अपाराधी की कोई धर्म जाति नही होती हम पीडित परिवार के लोगो साथ है उन्होने मंच से खुले मे पीडित परिवार के लिए 51 हजार रूपए देने की घोषणा कर दी जिससे वहां पर मौजूद कश्यप् समाज के लोग चिल्लाने लगे की उन्हे मदद नही आरोपी को फांसी चाहिए।
विधायक तेजेन्द्र निर्वाल ने कहा कि वह कश्यप समाज की बेटी नही अपितु सर्वसमाज की बेटी थी घटा की जितनी निंदा की जाए कम है । रासुका के तहत पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है परिवार की मदद के लिए वे हमेशा तैयार है। मुख्यमंत्री के सामने पूरे प्रकरण को रखकर पीडित को हर सम्भव मदद दिलाई जायेगी।
पूर्व सांसद नरेन्द्र कश्यप् ने कहा कि शामली मुजप्फरनगर मे कई बडी वारदात समाज के लोगो के साथ हो चुकी है। हम लोगो को बहुत कमजोर समझने का काम किया जा रहा ह। ऐसा कार्य न करो कि एक बार फिर से कोई फुल्लन देवी तैयार हो जाए लेकिन यहां तो उसकी भी हत्या करा दी गई थी। जागरूकता हौसले की समाज को जरूरत है। हमारा समाल अन्याय से नही लडता तभी ये वारदात हो रही है। उन्होने इस हमले को आंतकी तालिबानी हमले करार देते हुए कहा कि जब तक आरोपी को फांसी न हो अपना खुन ठंण्डा मत होने देना। सबके सहयोग से ही सोनी को न्याय मिल पायेगा। जनप्रतिजिधि वोट के लिए आते है चोट लगने पर भी तो उन्हे आना चाहिए चार दिनो से लोकल जनप्रतिनिधि उनके बीच नही पहुचे। आज समाज को एकलव्य की जरूरत नही है अपितु अर्जुन की जरूरत है।
मनीष चौहान पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष बोले की बाहर से आए सभी लोगो का हम सम्मान करते है पीडा है हमे भी दुख है कि इतनी बडी वारदात हो गई है। लेकिन वह बेटी हतारी बेटी है किसी एक समाज ककी बेटी नही उसके लिए हम तब तक लडेगे जब तक परिवार को न्याय नही मिल जाता आरोपी की कोई धर्म जाति नही होती । उन्होने कहा कि गांव से एक कैमेटी बनाओ हम उसके साथ मिलकर इस लडाई को लखनउ तक लडने का काम करेगे।
ओमपाल कश्यप भाजपा कार्यकर्ता दिल्ली ने कहा कि सोनी हत्या काण्ड निर्भया जैसा ही है हम इस लडाई को आज दिल्ली राजपथ से कैंडल मार्च निकालते हुए शुरू करेगे परिवार को हर सम्भव मदद व आरोपी को फांसी की सजा की मांंग केन्द्र से की जायेगी।
रामजीलाल कश्यन ने कहा बेटियो की सुरक्षा के लिए हमे ळाह जागरूक होना होगा अपनी बेटियो के अन्दर हिम्मत दे उन्हे जुडो कराटे के साथ अन्य आत्म रक्षा के गुर सिखाए आज का समय भयानक है हमे आत्म रक्षा के लिए तैयार रहना होगा हम सरकार से परिवार की मदद व आरोपी को सख्त सजा दिलाने की मांग करेगे।
सुरेन्द्र कश्यप् विधायक गाजियाबाद ने कहा कि बात कश्यप समाज की बेटी की हत्या नही है बल्कि बात सर्व समाज की बेटी की सुरक्षा की है। इसके लिये समाज के साथ रहकर संर्घष करेगे।
नीटू कश्यप, चतरसिंह गाजियाबाद, सत्यवीर कश्यप् लिसाढ, विकास नाला, सरदार सिंह नाला सहित दर्जनों वक्ताओं ने कहा कि घटना निंदनीय है। हम सब पीडित परिवार के साथ है। वारदात मे जिन लोगो ने फसला कराया वे लोग व पुलिस भी बराबर की दोषी है उनके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए गरीब को हर क्षेत्र मे दबाव जाता है उसका गरीब होना ही अभिशाप बन गया है। अपराधी पर रासुका पोस्को एक्ट के तहत कार्रवाई किए जाने के साथ उसको फांसी दिए जाने की सभी वक्ताओ ने मांग की। वारदात मे शमिल अन्य आरोपियो की गिरप्तारी की मांग करते हुए परिवार को आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की गई। वक्ताओ ने कहा कि प्रदेश सरकार महिलाओ को एन्टी रोमियो के तहत सुरक्षा देने मे लगी है। श्रद्धाजंलि सभा में परिवार को न्याय दिलाने, आरोपीयों पर पोस्कों, रासुका की धारा बढाये जाने तथा परिवार को 10 लाख रूपयें की आर्थिक मदद सरकार से दिलाये जाने की मांग को लेकर 21 दिसंबर को जिलामुख्यालय का घेराव कर धरना देने का निर्णय लिया साथ की चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनकी मांगों को पूरा नही किया गया तो रमाला शुगर मील में निर्धारित सीएम योगी आदित्यनाथ कार्यक्रम का विरोध कर प्रदर्शन करेगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

यूपी सरकार का दावा है कि हॉटस्पॉट की रणनीति है कारगर

लखनऊ।  कोरोना पर काबू के प्रयासों में यदि राजस्थान का भीलवाड़ा मॉडल चर्चा में है ...

उत्तराखंड में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 22 हुई

देहरादून। उत्तराखंड में शनिवार को कोरोना संक्रमण के छह नए मामले सामने आए हैं। जिसमें पांच ...