Breaking News

रासायनिक रिसाव को निपटने की कार्ययोजना तैयार की गई

-कैमिकल डिजास्टर माॅकड्रिल को लेकर सचिवालय बैठक आयोजित
देहरादून। जनपद देहरादून, हरिद्वार, उधमसिंहनगर एवं नैनीताल जिलों में आयोजित होने वाले कैमिकल डिजास्टर माॅकड्रिल को लेकर राज्य सचिवालय परिसर से आपदा सचिव अमित नेगी की अध्यक्षता में पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेसिंग की गई। इस अवसर पर औद्योगिक संस्थानों में विशेषकर रासायनिक रिसाव को निपटने की कार्ययोजना तैयार की गयी।
सचिव आपदा अमित नेगी ने जिलाधिकारियों को आवश्यक सुझाव एवं दिशा-निर्देश दिये। वीडियो कान्फ्रेसिंग के द्वारा अवगत कराया गया कि आपदाकाल के दौरान बचाव एवं राहत कार्यों के संचालन के लिए स्टेजिंग एरिया बनाया जायेगा जहां से आपदा में आवश्यक उपकरण, खाद्य सामग्री, मेडिकल एवं एमबुलेंस, एनडीआरफ, एसडीआरएफ, पैरामिलिट्री फोर्स, पुलिस एवं सेना के जवानों के जवानों के साथ ही वायरलैस एवं अग्निशमन द्वारा त्वरित कार्यवाही की जायेगी। बताया गया कि आपदा के दौरान अफवाहों पर रोक लगाने के लिए एफएम रेडियो, गुरूद्वारा , मन्दिर एवं मस्जिद धार्मिक स्थलों के माध्यम से भी लोगों को जागयक किया जायेगा तथा बचाव एवं राहत कार्य तेजी से चलाकर लोगों को आधार शिविर मेडिकल कैम्प तक पंहुचाने का कार्य किया जायेगा। वीडियोकान्फे्रसिंग माध्यम से जिलाधिकारियों से सीधे टेबिल टाॅक किया गया। उन्होंने कहा कि कैमिकल डिजास्टर का माॅकड्रिल इण्डिस्ट्रीयल एरिया में किया जायेगा तथा अपरान्ह बाद जिला आपदा परिचालन केन्द्र से माॅकड्रिल के दौरान की गई कार्यवाहियों का विस्तृत विवरण डी-ब्रीफिंग के माध्यम से की जायेगी। उन्होंने बताया कि टास्कफोर्स के साथ मेडिकल टीम एवं एम्बूलेंस टीम तैनात रहेगी जो आपदा से प्रभावित लोगों को आवश्यक सुविधाएं मुहैय्या करायेगी। वीडियोकाफ्रेसिंग के दौरान लो.नि.वि, स्वास्थ्य, पेयजल, विद्युत, सिडकूल, शिक्षा तथा आईआरएस से जुड़े विभागीय अधिकारियों को कैमिकल आपदा के दौरान किये जाने वाले क्रिया कलपानों की विस्तृत जानकारी दी गयी। कैमिकल डिजास्टर की घटना की जानकारी सायरन के माध्यम से दी जाय।
इधर जिलाधिकारी आशीष कुमार श्रीवास्तव ने वीडियोकान्फ्रेसिंग में जानकारी देते हुए बताया कि जनपद के औद्योगिक क्षेत्र सेलाकुई, कलेमेन्टाउन, ऋषिकेश आदि स्थानों पर कैमिकल आपदा से निपटने के लिए स्टेजिंग एरिया बनाये गये हैं। जहां पर आवश्यक उपकरण मेडिकल किट, गैस मास्क के साथ ही एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिस, अद्धसैनिक बल एवं सेना के जवानों द्वारा राहत एवं बचाव कार्यों में त्वरित गति से कार्य किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि आपदा से निपटने के लिए सभी अवाश्यक व्यवस्थाओं को प्रशासन द्वारा अंतिमरूप दिया जा रहा है। माॅकड्रिल के दौरान प्रभावित क्षेत्रों के रूप में हिमालयन ड्रग क्लेमेन्टाउन हेतु साईट चीफ अधिकारी के रूप में अधिशासी अभियन्ता नमित रमोला, हिन्दुस्तान गैस एजेंसी ऋषिकेश आईडीपीएल के लिए अधिशासी अभियन्ता लो.नि.वि विपुल कुमार सिंह, मेजर आपदा प्रभावित साईट लिंडे इण्डिया लिमिटेड एवं इंण्डियन आॅयल पैट्रोलियम  लि0 रामपुर तहसील विकासनगर के लिए मुख्य साईट अधिकारी के रूप में महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र को नामित किया गया हैं तथा मेजर आपदा प्रभावित क्षेत्र के लिए स्टेजिंग एरिया फायर स्टेशन सेलाकुई के ग्राउण्ड में बनाया गया है। स्टेजिंग एरिया में रिलिफ कैम्प, मेडिकल एड पोस्ट, सीवीओ, हेल्पडेस्क बनाया गया है जहां पर 2 मेडिकल यूनिट, एनडीआरएफ, सेलाकुई स्कूल, सेना, सिविल डिफेंस, युवा कल्याण, जल संस्थान, फायर, एएलसी लेबर, होमगार्ड के जवान एवं वालिंटीयर राहत बचाव कार्य में रहेंगे तथा यहां पर  प्रभावितों को रेस्क्यू कर लाया जायेगा। इसके साथ ही पुलिस लाईन देहरादून, आईडीपीएल ऋषिकेश एवं सेलाकुई इन्टरनेशनल स्कूल हेलीपैड भी बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने किया पौधारोपण

बेरीनाग। हरेला कार्यक्रम के तहत अस्कोट से आराकोट अभियान के तहत जिले के प्रभारी शिक्षा ...

भारी बारिश के चलते ढहा मकान, मां व दो बेटियों की मौत

अल्मोड़ा। बारिश के कारण द्वाराहाट राजस्व क्षेत्र के तैलमनारी गांव में एक दो मंजिला मकान ...