Breaking News

अपने 100वें वर्ष में, हार्पिक ने भारत में सफाई और कीटाणुशोधन के महत्व पर प्रकाश डाला

अक्षय कुमार के साथ हार्पिक ने दो नए अभियान शुरू किए

देहरादून। पिछले 100 वर्षों से, हार्पिक पूरी दुनिया को सफाई और स्वच्छता समाधान उपलब्ध कराने की दिशा में काम कर रहा है। भारत में टॉयलेट सफाई श्रेणी में अग्रणी होने के नाते, हार्पिक दशकों से भारतीय घरों में सफाई और स्वच्छता का नेतृत्व कर रहा है।  हार्पिक टॉयलेट क्लीनर और हार्पिक बाथरूम क्लीनर दोनों का परीक्षण अंतरराष्ट्रीय मान्य्ाता प्राप्त स्वतंत्र प्रयोगशालाओं द्वारा किया गया है और यह पाया गया है कि बिना पानी में मिलाये यह 99.9 प्रतिशत किटाणुओं और कोविड-19 वायरस को प्रभावी ढंग से मारने में सक्षम हैं।
      सुखलीन अनेजा, सीएमओ और मार्केटिंग डायरेक्टर, आरबी हाईजीन, साउथ एशिया ने कहा, “पिछले 100 सालों से, हार्पिक पूरी दुनिया में सफाई और स्वच्छता समाधान उपलब्ध कराने में चैम्पियन रहा है। इसके संवाद व्यवहार में परिवर्तन लाने पर केंद्रित रहे हैं। हार्पिक की टॉयलेट और बाथरूम क्लीननर्स की रेंज न केवल बेहतर सफाई और स्वच्छता प्रदान करती है बल्कि इन्हें कोविड-19 वायरस को मारने में भी प्रभावी पाया गया है। आम तौर पर उपयोग किए जाने वाले डिटर्जेंट्स की तुलना में हार्पिक प्रोडक्ट्स में कम पानी का उपयोग होता है।”
      अक्षय कुमार, अभिनेता, ब्रांड अंबेसडर ने कहा, “हार्पिक के साथ जुड़ने से मुझे भारतीय दर्शकों तक पहुंचने और उन्हें बेहतर स्व्च्छता और सफाई की आवश्यकता के बारे में शिक्षित करने में मदद मिली है। मौजूदा महामारी के दौरान, हर कोई हाथ धोने का ध्यान रख रहा है, लेकिन फर्श व सतह और टॉयलेट्स व बाथरूमामें को डिसइनफेक्ट करना भी उतना ही महत्व पूर्ण है, जहां बीमारी फैलाने वाले किटाणु हो सकते हैं।
      डा. स्कंनद सक्सेना, डायरेक्टर आर एंड डी, आरबी  हाईजीन, साउथ एशिया ने कहा, “हार्पिक ऐसे बेहतर समाधान उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जो टॉयलेट्स और बाथरूम्स् को प्रभावी तरीके से साफ और डिसइनफेक्ट करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

जिले में मात्र 68 प्रतिशत गर्भवती महिलाओं को कैल्शियम प्राप्ति पर डीएम ने जताई नाराजगी

रूद्रपुर। कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी रंजना राजगुरू के अध्यक्षता में विडियो काॅन्फ्रेन्सिग के माध्यम से ...

2 अक्टूबर को उक्रांद राज्य के शहीदों को गैरसैंण में देगा श्रद्धांजलि

देहरादून। गैरसैंण उत्तराखंड राज्य आंदोलन का केंद्र बिंदु रहा है। 42 शहादतें राज्य के साथ ...