Breaking News

गुरू द्रोण की तप और अश्वथामा की जन्म स्थली है टपकेश्वर महादेव मंदिर

देहरादून। टपकेश्वर महादेव मंदिर जो कि महाभारत काल के समय से राजधानी देहरादून के गढ़ी कैंट छेत्र में स्थित है जिसका इतिहास गुरु द्रोणाचार्य से भी जुड़ा है यहां के मुख्य पुजारी श्री भरतगिरी जी महाराज ने एस0डी0 न्यूज के संवाददाता को बताया कि गुरु द्रोणाचार्य के पुत्र अश्वथामा का जन्म भी यहीं हुआ था। भरतगिरी महाराज ने हमें मंदिर के बारे में कई रोचक जानकारियां भी दीं। उन्होंने बताया कि पहले की अपेक्षा अब मंदिर परिसर में कई सुधार किए गए है, पीछे नदी पर घाट भी बनाये गए है और कई ऐसे बदलाव व निर्माण किये गए हैं जिससे यहां आने वाले भक्तों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। उन्होंने राम मंदिर पर भी चर्चा की। अधिक जानकारी के लिए नीचे वीडियो  पर क्लिक करें:-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

प्राचीन छड़ी यात्रा गुप्तकाशी में पूजा अर्चना के बाद चमोली के लिए हुई रवाना

हरिद्वार। प्राचीन छड़ी यात्रा आज सबेरे गुप्तकाशी में जूना अखाड़े के अन्र्तराष्ट्रीय सभापति,पवित्र छड़ी के ...

पतंजलि में दिखा मगरमच्छ, लोगांे में दहशत का माहौल

हरिद्वार। बाबा रामदेव के संस्थान पतंजलि योगपीठ फेस-2 के आस-पास भरे पानी में मगरमच्छ दिखाई ...