Breaking News

आईआईटी रुड़की ने लांच किया आईआईटी रुड़की एलुमनी का ग्लोबल नेटवर्क

देहरादून /रुड़की।  आईआईटी रुड़की ने दुनिया भर में रहने वाले अपने एलुमनी के साथ एक व्यापक संबंध स्थापित करने के लिए आईआईटी रुड़की एलुमनी का ग्लोबल नेटवर्क लांच किया है। यह संस्थान और उसके एलुमनी के एक व्यापक और सटीक एलुमनी डेटाबेस की जरूरत को पूरा करेगा।
इसके अलावा, कई एलुमनी एक ऐसे नेटवर्क की मांग कर रहे थे जो उन्हें एलुमनी को खोजने और उनके साथ जुड़ने में मदद कर सकता हो। साथ ही एक ही प्लेटफॉर्म के माध्यम से संस्थान के साथ संवाद करने की सुविधा भी प्रदान करता हो। ग्लोबल नेटवर्क इस जरूरत को भी पूरा करने की कोशिश करेगा। यह ग्लोबल नेटवर्क, थॉमसन कॉलेज ऑफ सिविल इंजीनियरिंग से यूनिवर्सिटी ऑफ रुड़की और अब आईआईटी रुड़की की यात्रा को संजोकर रखने में योगदान देगा। वर्ष 1847 में स्थापित इस संस्थान के शानदार इतिहास का हिस्सा रहे एलुमनी की पुरानी और नई पीढ़ियों को एक प्लेटफॉर्म पर लेकर आएगा। आईआईटी रुड़की एलुमनी का यह ग्लोबल नेटवर्क एलुमनी वालंटियर्स द्वारा संचालित किया जाएगा।
नेटवर्क के कार्यान्वयन में प्रावधान बनाए जाएंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सदस्यों की गोपनीयता संबंधी चिंताओं का पूरी तरह से ध्यान रखा जाए। इसके अलावा, सदस्यों के पास अपनी इच्छा के अनुसार संदेशों और सेवाओं की सदस्यता शुरू और समाप्त करने का विकल्प होगा। डेटाबेस की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विशेष ध्यान रखा जाएगा।
नेटवर्क की सदस्यता से कई लाभ मिलेंगे। उदाहरण के लिए,
1. नेटवर्क की लाइफ मेंबरशिप फ्री होगी।
2. सभी सदस्यों को एक पहचान पत्र जारी किया जाएगा।
3. सदस्यों के पास दुनिया भर के लोकल, रीजनल और नेशनल नेटवर्क पर एलुमनी के साथ सोशल और प्रोफेशनल नेटवर्किंग के अवसर होंगे।
4. यह संकट में फंसे किसी एलुमनी या उसके परिवार के लिए, उनके सहयोगी एलुमनी से मदद जुटाने के लिए एक प्रणाली का निर्माण करेगा।
5. सदस्यों के पास स्टूडेंट्स मेंटोरशिप प्रोग्राम्स, इंटर्नशिप और संस्थान की अन्य गतिविधियों जैसी योजनाओं में भाग लेने और योगदान करने के अवसर होंगे।
6. सदस्यों को ई-न्यूज़लेटर्स के माध्यम से एलुमनी और अल्मा मेटर के बारे में नियमित अपडेट प्राप्त होगा।
7. नेटवर्क में उत्कृष्ट योगदान देने वाले सदस्यों को उपयुक्त रूप से मान्यता दी जाएगी।
8. पहचान पत्र धारकों के लिए विभिन्न संगठनों के उत्पादों और सेवाओं के लिए विशेष छूट की सुविधा दी जाएगी।
9. अल्मा मेटर में विशेषाधिकार:
i) पहचान पत्र सदस्यों को परिसर में सुचारू रूप से प्रवेश करने में मदद करेगा।
ii) उपलब्धता केअनुसार, सदस्य रियायती दर पर आईआईटी रुड़की के गेस्टहाउस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
iii) सदस्यों को एक ही प्लेटफॉर्म के माध्यम से डीन, हेड ऑफ डिपार्टमेंट/सेंटर, विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता वाले फ़ैकल्टी या संस्थान के कार्यालय से जुड़ने का अवसर मिलेगा।
iv) जहां भी संभव हो, सदस्यों के लिए पुस्तकालय सेवाओं का विस्तार करने की संभावना का पता लगाया जाएगा।
v) अनुरोध पर, सदस्यों को स्थापना दिवस, स्वतंत्रता दिवस या गणतंत्र दिवस के अवसर पर आमंत्रित किया जाएगा।
vi) सदस्य रविवार को परिसर के दौरे के लिए अनुरोध कर सकते हैं। परिसर के दौरे में जेम्स थॉमसन बिल्डिंग, हैंगर, इंस्टीट्यूट आर्काइव, मेडलिकॉट म्यूजियम और महात्मा गांधी सेंट्रल लाइब्रेरी के दौरे शामिल होंगे। अनुरोध कम से कम एक सप्ताह पहले किया जाना चाहिए।
इस अवसर पर, आईआईटी रुड़की के निदेशक प्रो. अजीत चतुर्वेदी ने कहा, “इस डिजिटल युग में, सोशल और प्रोफेशनल नेटवर्किंग के संबंध में काफी बदलाव आया है। सूचना प्रौद्योगिकी ने एक पदानुक्रमित और नौकरशाही प्रणाली के बजाय एक सीधा और कुशल मंच के लिए एलुमनी और स्टूडेंट्स की अपेक्षाओं को बढ़ाया है। वे एक-दूसरे के साथ और संस्थान के साथ भी जुड़ना चाहते हैं।” उन्होंने आगे कहा, “यह देश में संभवत: अपनी तरह का पहला नेटवर्क होगा। हमें विश्वास है कि यह नेटवर्क अन्य शैक्षणिक संस्थानों में लागू किए जाने में भी सक्षम होगा।”
भारत के माननीय राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने 4 अक्टूबर 2019 को आईआईटी रुड़की के दीक्षांत समारोह में दिए संबोधन में भी एलुमनी के साथ जुड़ने के सरल तरीकों की आवश्यकता पर बात की थी।
आईआईटीआर के 1966 बैच के यूएस-बेस्ड एलुमिनस, अमेरिकन सोसाइटी ऑफ मैकेनिकल इंजीनियर्स (एएसएमई) के प्रतिष्ठित एलुमिनस अवार्डी और आईआईटी रुड़की के शीर्ष दानदाताओं में से एक श्री मोहिंदर एल. नय्यर ने कहा, “आईआईटी रुड़की का ग्लोबल एलुमनी नेटवर्क एक अग्रणी पहल है। यह हमारे समय और भविष्य की आवश्यकता को पूरा करेगा। वर्तमान और भविष्य के एलुमनी इसे अपने अल्मा मेटर के साथ निरंतर संबंध स्थापित करने, उसे प्रगाढ़ करने और इसका आनंद लेने में प्रभावी पाएंगे। नेटवर्क के सदस्यों के लिए संभावित लाभ इसमें एक आकर्षक और परिपूर्ण आयाम जोड़ते हैं।”
आईआईटी रुड़की के 1969 बैच के एलुमिनस, आयशर लिमिटेड के पूर्व प्रबंध निदेशक, हिंदुस्तान मोटर्स के पूर्व अध्यक्ष और संस्थान के प्रतिष्ठित एलुमिनस अवार्डी श्री बी. के. चतुर्वेदी ने कहा कि, “आईआईटीआर का यह ग्लोबल एलुमनी नेटवर्क संस्थान और एलुमनी  के बीच के संबंध को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगा। यह दुनिया भर में एक एलुमनी को दूसरे एलुमनी से जोड़ने में काफी सहायक होगा। उपयोगकर्ताओं के अनुभव के आधार पर ग्लोबल एलुमनी नेटवर्क प्रणाली में बदलाव लाया जाएगा। देश के अन्य शैक्षणिक संस्थानों के लिए एलुमनी-अल्मा मेटर कनेक्ट में एक ट्रेंड सेटर के रूप में इसके उभरने की संभावना है।“

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

12वीं की परीक्षा में एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज के छात्रों ने किया उत्कृष्ट प्रदर्शन

भीमताल। भीमताल के एसओएस चिल्ड्रेन्स विलेजेज के छात्रों ने सीबीएसई 12 वीं कक्षा की परीक्षा ...

प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 3785 पहुंची

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बुधवार को ...