Breaking News

तरनतारन में नगर कीर्तन के दौरान हुआ तेज धमाका,दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि कई घायल हो गए

तरनतारन। बााबा दीप सिंंह जी के जन्म दिवस को समर्पित नगर कीर्तन के दौरान शनिवार को अचानक तेज धमाका हो गया। धमाका इतना जबरदस्त था कि दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि कई घायल हो गए। घायलों की हालत भी गंभीर बनी हुई है। नगर कीर्तन में धमाके के कारण अफरा-तफरी मच गई। जब धमाका हुआ तब नगर कीर्तन गांव पहुविंड से गुरुद्वारा टाहला साहिब लिए रवाना हुआ ही था। धमाका कैसे हुआ, यह अभी तक पता नहीं चल पाया है। मृतकों में 12 वर्षीय गुरप्रीत सिंह व 17 वर्षीय मनप्रीत सिंह शामिल हैं।

      उधर, एएनआइ के अनुसार प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि लगभग 14-15 लोगों के मौत की आशंका है। एसएसपी ध्रुव दाहिया के अनुसार नगर कीर्तन में आतिशबाजी के दौरान ट्रैक्टर पर रखी विस्फोटक सामग्री में आग लगने से यह धमाका हुआ है। अभी घटना की जांच की जा रही है। इसके बाद ही पक्के तौर पर कुछ कहा जा सकता है।

      इससे पहले, एसएसपी धुव्र दाहिया ने भी पहले 15 लोगों के मरने की आशंका जताई थी। हालांकि बाद में उन्होंने दो ही लोगों के मरने की पुष्टि की हैैै। कई घायलों की स्थिति अभी गंभीर बनी है। आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। घटनास्थल पर अफरा-तफरी का माहौल है। घटनास्थल को पुलिस ने चारों ओर से घेर लिया है। पुलिस का कहना है कि जांच के बाद ही घटना के बारे में कोई जानकारी दी जा सकती है। पुलिस बल के साथ-साथ आलाधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं। पुलिस का कहना है कि अभी उनका ध्यान राहत एवं बचाव कार्य पर है। धमाका कैसे हुआ अभी इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है। बता दें, तरनतारन सीमांत जिला है। इसकी सीमा पाकिस्तान से सटी है। घटनास्थल पाक सीमा से लगभग 40 किलोमीटर दूर है। धमाका आतंकी घटना भी हो सकती है।  घायलों को अस्पताल पहुंचाने के बाद धमाके के कारणों की जांच की जा रही है। अभी पुलिस का प्राथमिक ध्यान घायलों को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाना है। कई घायलों को अस्पताल पहुंचा दिया गया है। मौके पर अफरा तफरी मची है। लोग अपनों की कुशलक्षेम के लिए पहुंच रहे हैं। मृतकों व घायलों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक धमाका इतना जोरदार था कि इसकी आवाज दूर-दूर तक सुनाई दी गई। नगर कीर्तन में शामिल होने के लिए दू-दूर से लोग पहुंचे हुए थे। इनमें कई बच्चे, महिलाएं व बूढ़े भी शामिल थे। मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में रखवा दिया गया है। घायलों की अभी पहचान नहीं हो पाई है। धमाका इतना जबरदस्त था कि मृतकों को अंग टूट कर दूर जा गिरे। मौके पर खून ही खून दिख रहा है। बता दें, इससे पहले भी नवंबर 2018 में अमृतसर के पास एर निरंकारी भवन में भी हमला हुआ था। हमले में तीन लोगों की मौत व कई लोग घायल हो गए थे। मामले के तार खालिस्तानी आतंकी से जुड़े थे। हमले के दौरान दो युवक निरंकारी भवन के पास पहुंचे और विस्फोटक सामग्री फेंक दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

10वीं व 12वीं की जुलाई में प्रस्तावित परीक्षाओं को लेकर केंद्र सरकार असमंजस में

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने जुलाई में प्रस्तावित परीक्षाओं को लेकर मानव संसाधन ...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सरकार की ओर से उठाए गए कदमों की समीक्षा बैठक की

नई दिल्‍ली, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सरकार ...